स्वागतम

मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है - हेम चन्द्र कुकरेती

Saturday, May 2, 2020

संवेदनशीलता

किसी की भी असमय मृत्यु दुखद होती है, चाहे वो सम्पन्न फिल्मी हस्तियां हों या झोलाधारी साधू।

किसी को बचाने के लिए लोग जीजान लगा देते हैं और किसी को लोग जान से मार देते हैं।

जानबूझकर किसी निर्दोष की हत्या करना शायद ज्यादा कष्टदायक है।

जान सबकी बराबर है, फिर भी मीडिया और सोशल मीडिया साधुओं के लिए कम संवेदनशील दिखाई देता है।

Monday, April 13, 2020

शिक्षाप्रद धारावाहिक

रामायण, महाभारत और चाणक्य धारावाहिक कई विषयों की शिक्षा देते हैं, विशेषकर प्रबंधन, कूटनीति और राजनीति जैसे विषयों की।

वर्तमान समय में लॉक डाउन को देखते हुए इन पुराने धारावाहिकों का दूरदर्शन से पुनः प्रसारण किया जाना भी एक दूरदर्शिता पूर्ण निर्णय है।

बिना किसी धारावाहिक पर निर्माण खर्च के, दूरदर्शन की लोकप्रियता और आय को बढ़ाना, तथा नागरिकों में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करना, ये भी जैसे एक पंथ दो काज की कूटनीति का हिस्सा है।

Monday, April 6, 2020

कठिन परिस्थितियां सिखाती हैं

कोविड-19 ने ये स्वस्थ रहने के लिए हमें शिक्षा दी है कि-
1. बचाव ही सर्वोत्तम सरल उपाय है, चिकित्सा ही हमेशा समाधान नहीं है।
2. साफ-सफाई महत्वपूर्ण है। शरीर, मन, विचार और घर बाहर की भी।
3. अनुशासन जीवन का आवश्यक अंग है। इसके बिना किसी लक्ष्य को प्राप्त नहीं किया जा सकता।
4. बहुत से क्षेत्र जैसे चिकित्सा, पुलिस, खाद्य सामग्री, प्रशासन आदि का महत्व अब समझ पाए हैं।

Saturday, March 21, 2020

कॅरोना से युद्ध

देश के सभी चिकित्सकों और चिकित्सा कर्मियों को, अपनी जान जोखिम में डालकर, देशवासियों की खातिर कॅरोना महामारी से लड़ने के लिए नमन। जय हिंद।